जानिए नकारात्मक लोगों के प्रकार / Know the types of negative people


आज मैं आप सभी को नकारात्मक लोगों के प्रकार बताने वाला हूँ | मैं आपको बताने वाला हूं कि कौन व्यक्ति अपने मुंह से क्या कहता है और उसका एक्चुअल में मतलब क्या होता है |

आपने कई लोगों को कहते हुए सुना होगा कि आज का मेरा दिन बहुत ही बुरा है या मेरे बहुत ही बुरे दिन चल रहे हैं इसका मतलब यह है कि वह व्यक्ति शिकायत करने वालों की श्रेणी में आता है मतलब वह थोड़ा नेगेटिव है |

यदि कोई व्यक्ति कहता है कि यह संसार पूरा मेरे खिलाफ है | यह पूरी दुनिया मेरे खिलाफ है | इसका मतलब यह है कि वह व्यक्ति हारने वालों की श्रेणी में है | मतलब वह मानता है कि वह इंसान हारा हुआ है |

यदि कोई व्यक्ति यह कहता है कि मुझे आपकी राय बिल्कुल भी पसंद नहीं आई | मुझे आपकी बातें बिल्कुल भी समझ में नहीं आ रही है | इसका मतलब यह है कि वह व्यक्ति करने वालों की श्रेणी में आता है वह हमेशा लोगों की आलोचनाएं करता रहता है |

यदि कोई व्यक्ति कहता है कि मुझे ज्यादा समय दो मैं आपको जो कहूं वही करो और जब कहूं तभी करो | इसका मतलब यह है कि वह व्यक्ति आप को नियंत्रित करना चाहता है | याद रखिए ऐसे लोगों से हमेशा दूर रहिए |

अमीर बनने का सबसे सही तरीका :-

आप सभी को पता है कि बल्ब का आविष्कार थॉमसअल्वा एडिसन ने किया है लेकिन क्या होगा यदि मैं आप सभी से कहूं कि बल्ब का आविष्कार थॉमसअल्वा एडिसन ने नहीं किया था | बल्ब का आविष्कार तो किसी और ने किया था |

आप कहेंगे कि कैसी बात कर रहे हैं अभी तक तो हमने यही पढ़ा, यही सुना है | हर जगह से यही पता चला है कि बल्ब का आविष्कार तो थॉमसअल्वा एडिसन ने ही किया है और उनकी वह बल्ब के अविष्कार वाली स्टोरी जिसमें वह एक हजार से भी ज्यादा बार बल्ब बनाने में फेल हो जाते थे | वह बार-बार बल्ब बनाते थे लेकिन उसके बाद भी वह बार-बार फेल हो जाते थे |

एक समय एक रिपोर्टर ने उनसे पूछा कि आप तो इतनी बार फेल हो गए हैं तो आप कितने बड़े फेलियर हैं | तब उन्होंने कहा था कि मैं फेल नहीं हो रहा हूं मुझे ऐसे तरीके पता चल रहे हैं जिन तरीकों से बल्ब नहीं बनाया जा सकता |

यह स्टोरी बहुत ही फेमस है आप सभी ने सुनी होगी | लेकिन इसके बाद भी अभी भी मैं कह रहा हूं कि बल्ब का आविष्कार थॉमसअल्वा एडिसन ने नहीं किया था बल्ब के अविष्कार के तो बहुत सारे वैज्ञानिक पहले से ही काम कर रहे थे | कई ने बल्ब बना भी लिया था उसे  जला भी लिया था | 

उन वैज्ञानिकों ने जो बल्ब बनाए थे वह बहुत देर तक चल नहीं पाते थे | कुछ का बल्ब थोड़ी सी झपकी लेता और उसके बाद फट जाता |

कुछ का बल्ब थोड़ी देर जलता लेकिन उसके बाद उसका जो भी धातु होता वह टूट जाता या वह बंद हो जाता | इसी चीज पर बहुत सारे वैज्ञानिक काम कर रहे थे और उनमें से एक थे थॉमसअल्वा एडिसन और फाइनली एडिशन ने ऐसा बल्ब बनाया जो बहुत देर तक जलता था | बहुत देर तक काम करता था | रोशनी देता था और इसी लिए थॉमसअल्वा एडिसन को बल्ब का आविष्कारक कहा जाता है |  लेकिन क्या आपने कभी सोचा है थॉमसअल्वा एडिसन सारे वैज्ञानिकों में सबसे ज्यादा फेमस वैज्ञानिक क्यों हुए |

हर व्यक्ति किसी भी एग्जांपल को रिलेट करता है कोई भी महान उदाहरण देता है या किसी भी महान वैज्ञानिक को याद करता है तो उसमें थॉमसअल्वा एडिसन  का सबसे पहले नाम क्यों आता है | क्या आपने कभी इस बारे में सोचा है |

थॉमसअल्वा एडिसन बहुत ही महान वैज्ञानिक होने के साथ-साथ बहुत ही अच्छे बिजनेसमैन भी थे | जब वह छोटे थे तभी से उन्होंने छोटी छोटी चीजों का व्यापार करना शुरू कर दिया था | उनमें व्यापार करने की एक बहुत ही अद्भुत कला थी बाकी जितने भी वैज्ञानिक हुआ करते थे वह सिर्फ किसी भी चीज का निर्माण करते थे | वह किसी भी चीज को खोजते थे वह बनाते थे लेकिन वह उसे बेचने लायक नहीं बना पाते थे |

कोई बिजनेसमैन आता था उनके इन्वेंशन को खरीद लेता था और उसके बाद उसका कॉपीराइट लेकर दुनिया में बेच देता था और बहुत प्रॉफिट कमाता था | जिससे वैज्ञानिक का नाम तो होता था लेकिन वह इतना ज्यादा सफल इतना ज्यादा अमीर नहीं बन पाता था | थॉमसअल्वा एडिसन एकमात्र ऐसे व्यक्ति थे जिन्होंने किसी चीज का अविष्कार भी किया और उसे बेचा भी उनके अंदर बिजनेस की बहुत ज्यादा कला थी |

अब यहां पर समझिएगा की यदि एक गोताखोर समुद्र के अंदर जाता है | एक- एक मोती इकट्ठा करता है और उन्हें बेचने की कोशिश करता है तो हो सकता है कि उसे बहुत ज्यादा दाम ना मिले या हो सकता है कि वह उन्हें  बेच  ही ना पाए |

सोच कर देखिए एक बिजनेसमैन आता है उन मोतियों को खरीदता है उसकी एक बहुत सुंदर माला बनाता है तो वह बहुत ज्यादा दाम में उस माला को बेच सकता है या वह बेचता है जिसके कारण वह व्यक्ति अमीर बनता है |

यहां पर समझने वाली बात यह है कि यदि आप भी अमीर बनना चाहते हैं आप भी अच्छा पैसा कमाना चाहते हैं तो सिर्फ किसी आइडिया को अपने दिमाग में रखकर आप कभी भी अमीर नहीं बन सकते हैं | यदि आप सोचते हैं कि ऐसा हो सकता है या फिर भविष्य में ऐसा कर सकते हैं | इन आइडिया को अपने दिमाग में रखता है तो आप कभी भी अमीर नहीं बन सकते हैं |

आपको उन आइडिया को मिलाकर किसी प्रोडक्ट की शक्ल देना होगा तभी लोग आपसे वह प्रोडक्ट खरीद सकते हैं और उसी तरीके से आप भी अमीर बन सकते हैं | जैसे थॉमसअल्वा एडिसन ने बल्ब को घर-घर पहुंचा कर  अमीर बन गए | 

अगर आप को ये Post अच्छी लगी तो Comment कर के जरूर बताएं और अपने Friends के साथ जरूर शेयर कीजिएगा अगर अभी तक आप ने मेरी Website www.myfitnessbeauty.com को Subscribe नहीं किया है तो Subscribe कर लीजिए तांकि मेरे आने वाले Post के Notification और उसके Updates आप को मिलते रहें |

मिलते है Next Post में तब तक के लिए Good Bye |