How To Make Strong Muscles In Hindi


How To Make Strong Muscles In Hindi

आज तेजी से भागती इस जिंदगी में ज्यादातर लोग व्यायाम के लिये समय नहीं निकाल पाते हैं।

जबकि ऐसे में व्यायाम और सही खान पान बेहद जरूरी हैं और इनका कोई विकल्प नहीं है।

रोज एक्सरसाइज कर आप आधे से ज्यादा बीमारियों से दूर रह सकते हैं।

व्यायाम में मसल बिल्डिंग बेहद महत्वपूर्ण होती है, मजबूत मसल्स ही मजबूत शरीर की अवधारणा होती हैं।


और आपको जानकर खुशी होगी कि केवल एक एक्सरसाइज (प्‍लैंक एक्सरसाइज) की मदद से बिना

जिम जाए न सिर्फ फ्लैट पेट पा सकते हैं, बल्कि पूरे शरीर की मसल्स को मजबूत बना सकते हैं। Inthis post you see How To Make Strong Muscles In Hindi

How To Make Strong Muscles In Hindi
प्‍लैंकआर्म एक्‍सरसाइज

How To Make Strong Muscles In Hindi

प्‍लैंकआर्म एक्‍सरसाइज

प्‍लैंक आर्म एक्‍सरसाइज पेट की मसल्स (इनर कोर मसल्स) को मजबूती देने के लिए एक बेहतरीन

व आसान वर्कआउट है। इस करसे मसल्स को मजबूती तो मिलती ही है साथ ही शरीर का लचीलापन

भी बढ़ता है। प्लांक आर्म एक्‍सरसाइज कई प्रकार से किया जा सकता है। चलिये साधारण फुल प्लांक करने का तरीका जानते हैं।

करने का तरीका 

  • प्‍लैंक आर्म एक्‍सरसाइज करने के लिये सबसे पहले पुश-अप्स की स्थिति में आ जाएं।
  • इसके बाद पैर और कमर को सीधी करें, ध्यान रहे इस दौरान आपका शरीर बीच से झुके नहीं।
  • अब जितनी देर संभव हो सके इसी स्थिति में रहने का प्रयास करें, इस दौरान सांस को भी रोके रखने का प्रयास करें।
  • इसकी शुरुआती दो-तीन मिनट से करें और फिर धीरे-धीरे इसी समय बढ़ाते जाएं।
  • चाहें तो एक्सरसाइज को और भी मुश्किल बनाने के लिए एक पैर या एक हाथ को हवा में उठा लें।  

आर्म एक्‍सरसाइज के फायदे

टोंड बटक्स (Toned buttocks)

जब भी हम व्‍यायाम करते हैं इन अंगों के बारे में जानकारी न होने के कारण नजरअंदाज कर जाते हैं।

लेकिन ग्‍लूटेल मसल्‍स (यह हिप्‍स के पास की एक जगह है) और

हैमस्ट्रिंग पैरों को ध्‍यान में रखकर किया जाना वाला प्लांक व्‍यायाम करने से नितंबों को मनवांच्छित आकार मिलता है

और इसके आसपास अतिरिक्‍त चर्बी नहीं जमा होती है। इससे सेल्‍यूलाइट भी चला जाता है।

प्‍लैंक आर्म एक्‍सरसाइज पेट की मसल्स (इनर कोर मसल्स) को मजबूती देने के लिए एक बेहतरीन

व आसान वर्कआउट है। इस करसे मसल्स को मजबूती तो मिलती ही है साथ ही शरीर का लचीलापन भी बढ़ता है।

हिप्‍स के पास की एक जगह के आसपास अतिरिक्‍त चर्बी नहीं जमा होती है। ( नितंबों को मनवांच्छित आकार मिलता है )

मजबूत कमर

एक्सरसाइज के दौरान, पीठ के निचले हिस्से की मांसपेशियां ज्यादा सक्रिय होती हैं। तो, ये एक्सरसाइज गर्दन और रीढ़ की हड्डी को सपोर्ट देती है और इन्हें मजबूत बनाती है। साथ ही प्लांक एक्सरसाइज करने से बहुत देर तक बैठे रहने या भारी बैग्स उटाने की वजह से होने वाला कंधओं का दर्द भी नहीं होता है।एक एक्सरसाइज बॉडी की हर मसल्स को मजबूत बना सकते हैं| 

चुस्त व आकर्षक पैर

इस एक्सरसाइज का मुख्य जोर पैरों पर रहता है। कूल्हों से लेकर पंजों को छोर तक की मसल्स इस एक्सरसाइज में शामिल होती हैं। इसकं नियमित अभ्यास से पैरों की मसल्स तो मजबूत होती है साथ ही पैरों को बेहतरीन शेप भी मिलती है।How To Make Strong Muscles In Hindi

Benefits of curry leaves

Benefits of Gooseberry ( amla)


अगर आप को ये Post अच्छी लगी तो Comment कर के जरूर बताएं और अपने Friends के साथ जरूर शेयर कीजिएगा अगर अभी तक आप ने मेरी Website www.myfitnessbeauty.com को Subscribe नहीं किया है तो Subscribe कर लीजिए तांकि मेरे आने वाले Post के Notification और उसके Updates आप को मिलते रहें |

मिलते है Next Post में तब तक के लिए Good Bye |

Disadvantages of drinking too much water
Treatment For Sinus
How to Increase Hemoglobin Treat Anemia Iron Deficiency
Improve Your Immunity Power
Sciatica Pain, Joint pain, Heel pain treatment


About admin 81 Articles
Hello Friends,My name is Divya Sharma. Welcome to my blogging site. I have created this site specially for those who are very conscious about their health, fitness and looks. I post information regarding good health, increase looks. Our goal is to spread information of how to remain healthy and look beautiful always.For any queries, please write your comments. Our team will answer you queries.Stay Healthy, Always Be HappyThanks for your timeGood Bye