Nerve treatment

Nerve treatment
Nerve treatment

Nerve treatment : शरीर में इन तीन चीजों से नसें ब्लॉक होती है | बंद नसों को खोलकर नसों में जान डाल देगा ये तरीका | आज इस पोस्ट में जानेंगे अगर नस दब चुकी है या फिर हम इससे बचे रहना चाहते है | तो हमे कौनसी चीजें बिल्कुल नहीं खानी | नियुरोजिकल डिसॉर्डर हो जाता है जो नसों में समस्या हो जाती है चाहे कमजोरी आ गई या फिर कोई नस दब गई तो उसके पीछे आखिर कारण क्या है ? हम इसका ईलाज किस तरीके से कर सकते है | अगर नसें ब्लॉक हो गई है या कमजोर हो गई है तो उनके लक्षण हमे क्या दिखते है | नसों की चाहे कोई भी समस्या है तो खट्टी चीजें कम खानी है |


हमारे शरीर के किसी भी हिस्से की नस दबने से होने वाला दर्द काफी तकलीफ वाला होता है | नसे हमारे शरीर में फैली होती है | शरीर का कोई भाग कमजोर पड़ जाता है तो उस भाग में नस ब्लॉक हो चुकी है या नस कमजोर हो चुकी है |

इस पोस्ट को शुरू करने से पहले आपको एक बात बताना जरूरी है कि यह पोस्ट नीचे दी गईं वीडियो का लिखित रूप है | जो जानकारी इस वीडियो में दी गईं है वही जानकारी इस पोस्ट में भी दी गईं है |

इस Post की वीडियो को देखने के लिए नीचे Play बटन पर Click करें

हमारे शरीर में तीन प्रकार की नसे होती है –

1. स्वाईप नस – ये नस हमारे शरीर की ऐसी प्रक्रिया में शामिल होती है जिन पर हमारा नियंत्रण नहीं होता , जैसे – दिल का धड़कना , रक्तचाप का होना , पाचन क्रिया का होना ।

2. मोटर नस – ये नसे किसी चीज को काम करने का ऑर्डर देती है , जैसे – हम किसी काम को करते है । उसे हमारे शरीर की कोई नस ऑर्डर देती है ।

3. सेन्सरिय नस – यह मुख्य रूप से हमारे स्किन से जुडी होती है । जिसे अभास कह सकते है । किसी चीज को छूते है या फिर कोई हमे छूता हैं तो ये नस स्किन के माध्यम से हमारे दिमाक को बताती है कि हमे कोई छू रहा है ।

हमने जाना की नसों का काम क्या है अगर कोई नस दब जाये तो उसका काम व दर्द बहुत गंभीर होता है ।

Nerve treatment : लक्षण :-

  • अगर किसी इन्सान की यादास्त कमजोर हो चुकी है वो चीजों को रख कर भूल जाता है । उसे कोई भी चीज बहुत लेट याद होती है उसका मतलब है उस इन्सान की इसे कमजोरी हो चुकी है या फिर दब चुकी है |
  • चक्कर आना एक ऐसा संकेत है जो नसों की कमजोरी को दर्शाता है खून जब हमारे शरीर में सही से नहीं चलता तो हमारी आँखों के आगे अंधेरा आने लगता है |
  • नींद कम आना |

न्यूरोजिकल डिसॉर्डर तब होता है जब हमारे शरीर में इन तीन तत्वों की कमी हो जाती है –

1. विटामिन B 12

2. पोटेशियम

3. मैग्नीशियम

विटामिन B 12

  • विटामिन B 12 का काम है नसों को सुचारु रूप से चलाना |
  • नॉनवेज में अण्डे और मछली में विटामिन B 12 ज्यादा पाया जाता है |
  • शाकाहारी में गाजर, पालक, उड़स, केला, दूध व दूध से बनी जितनी भी चीजे है, मशरूम, ड्राई फ्रूट आदि में विटामिन B 12 अच्छी मात्रा में पाया जाता है |
  • लेकिन आप इसे रोजाना लीजिए क्योंकि ये शरीर से बाहर होता है |
  • हमारा शरीर इसे इकठ्ठा करके नहीं रख सकता |

पोटेशियम –

  • पोटेशियम के लिए तरबूज, चुकंदर, नारियल पानी, केला, सूरजमुखी के बीज आदि का सेवन करें |
  • 1 गिलास गुनगुने पानी के अंदर 3 चमच्च एलोवेरा जूस, 3 चमच्च गिलोय का जूस मिक्स करके पीना है |
  • अगर हमारे शरीर में वात या पित बढ़ जाती है तो नसों में सूजन आ जाती है |
  • इसलिए 3 -3 चमच्च एलोवेरा व गिलोय जूस को गुनगुने पानी में मिक्स करके पीजिये |
  • जिनको जोड़ो का दर्द रहता है वे लोग भी इसे जरूर लें |

शिलाजीत –

  • शिलाजीत खाने से नसों में कमजोरी व नसों की सभी समस्या दूर होती है और नसों को मजबूती देता है, उनकी कार्यक्षमता को बढ़ाता है |
  • आप माचिस की एक तिली लीजिए उसे चार भाग में बाँट ले |
  • एक हिस्से पे जितना शिलाजीत चढ़े उसको गुनगुने पानी में मिक्स करके ले लीजिए |
  • इसे खाली पेट लेना है लेकिन सुबह के समय ना लें |

Nerve treatment : किन बातों का रखें ध्यान –

  • अपनी खट्टी चीजे बिल्कुल नहीं खानी |
  • नमक व मीठा बहुत कम खाना है |
  • ऑयली फ़ूड का सेवन बहुत कम करें |
  • बीज फ्राई चीजें , जंक फूड इनका सेवन ना करें |
  • एनिमल प्रोटीन , शराब का सेवन नहीं करना |

Nerve treatment : किन चीजों का सेवन करें –

हरी पत्तेदार सब्जियाँ –

  • आपने हरी पत्तेदार सब्जियाँ ज्यादा खाएं |
  • कच्ची हरी पत्तेदार सब्जियों में विटामिन B12 बहुत ज्यादा होता है |

ओमेगा थ्री –

  • ओमेगा थ्री वाली चीजें जरूर खाएं |
  • बेदाम, मछली, अलसी, अखरोट आदि में ओमेगा थ्री बहुत सारा होता है |
  • गर्मियों में आपने बेदाम, अखरोट, अलसी का सेवन पानी में भिगोकर करना है |
  • ज्यादा मात्रा में पानी पीये, क्योंकि पाइबर को पचाने में शरीर में पानी पूरा होना जरूरी है |

किशमिश –

  • आप अपने रोजाना के आहार में किशमिश का सेवन जरूर करें |
  • नसों के ब्लॉक को खोलने के लिए व ब्लड के सर्कुलेशन को ठीक रखने के लिए किशमिश रोजाना खाना बहुत फायदेमंद है |

लहसुन –

  • अगर हमारे शरीर में कमजोरी या थकान हो जाती है तो उसका कारण है हमारे शरीर में खून का प्रवाह ठीक से नहीं हो रहा , या नसों के अंदर खून के थक्के जम चुके है |
  • अगर आप रोजाना 2 कली लहसुन खाते है तो इससे ना केवल ब्लड का सर्कुलेशन ठीक रहता है बल्कि नसे ब्लॉक नहीं होती, high BP, कोलेस्ट्रॉल, दिल की बीमारिया नहीं होती |

कच्चा टमाटर –

  • रोजाना के आहार में कच्चा टमाटर जरूर खाएं |
  • जिनको पत्थरी की समस्या है उनको कच्चा टमाटर नहीं खाना |

कददू के बीज –

  • रोजाना 1 चमच्च कददू के बीज जरूर खाएं |
  • इसके बहुत फायदे है आप इसको पाउडर बनाकर भी खा सकते है , पानी में या दूध में मिक्स करके भी खा सकते है |
  • जो लोग व्यायाम करते है जिम जाते है , उनको अपने मसल को बनाने के लिए मसल की ऐठन आदि को दूर करने के लिए रोजाना के आहार में 1 चमच्च कददू के बीज खाना चाहिए |
  • ये हमारे दिमाग को मजबूती देता है |

अनार –

  • अनार के अंदर नाइट्रेट और टेनिफिलोन होता है जो कि नसों को मजबूती देता है, शरीर में हीमोग्लोबिन को बढ़ाता है |

एक बात का जरूर ध्यान रखें आपने दिन में कम से कम 30 मिनट व ज्यादा से ज्यादा 1 :30 घण्टे की सैर जरूर करें, ये बहुत फायदेमंद है, ब्लड के सर्कुलेशन को ठीक करने के लिए |


ये ही जानकारी नसों की समस्याओ को ठीक करने की |

अगर आप को ये Post अच्छी लगी तो Comment कर के जरूर बताएं और अपने Friends के साथ जरूर शेयर कीजिएगा अगर अभी तक आप ने मेरी Website www.myfitnessbeauty.com को Subscribe नहीं किया है तो Subscribe कर लीजिए तांकि मेरे आने वाले Post के Notification और उसके Updates आप को मिलते रहें |

मिलते है Next Post में तब तक के लिए Good Bye |

दिव्या शर्मा

Our other Posts
Disadvantages of drinking too much water
Treatment For Sinus
How to Increase Hemoglobin Treat Anemia Iron Deficiency
Improve Your Immunity Power
Sciatica Pain, Joint pain, Heel pain treatment