Treatment of muscle spasms

Treatment of muscle spasms
Treatment of muscle spasms

आज हम आपको बताने जा रहे हैं मांसपेशियों में ऐठन का इलाज(Treatment of muscle spasms) बारे में | या यह कह सकते हैं मांसपेशियों में लगातार  ऐठन  रहती है | मांसपेशियों में बहुत खिंचाव रहता है | चाहे आप सो कर उठे हैं फिर भी आपकी मांसपेशियों में थकावट है | ऐठन है | उसमें खिंचाव है | चाहे आप कोई काम करके हटे हैं फिर भी ऐसा ही लग रहा है | आपका किसी भी काम को करने का मन नहीं करता | मांसपेशियों में जो ऐठन आ रही है वह चाहे टांगों में आ रही हो या फिर कंधों में आ रही हो  या फिर कमर में आ रही हो | इन तीनों भागों में कहीं भी ऐठन आ रही है | खिंचाव हो रहा है |

मांसपेशियों में ऐठन का इलाज(Treatment of muscle spasms) कैसे करना है | इलाज जाने से पहले हमें यह जानना बहुत जरूरी है कि हमारी मांसपेशियों में ऐंठन आती किस कारण से है |

इस पोस्ट को शुरू करने से पहले आपको एक बात बताना जरूरी है कि यह पोस्ट नीचे दी गईं वीडियो का लिखित रूप है | जो जानकारी इस वीडियो में दी गईं है वही जानकारी इस पोस्ट में भी दी गईं है |

इस Post की वीडियो को देखने के लिए नीचे Play बटन पर Click करें

मांसपेशियों में ऐंठन आने का कारण – Causes of muscle spasms

  • हमारी मांसपेशियों में ऐंठन तभी आएगी जब हमारे शरीर की कोई भी नस दब जाएगी या बंद हो जाएगी |
  • किसी भी नस में कोई रुकावट आ जाती है चाहे वह दब जाएगी तो उस एरिया में खून का प्रवाह नहीं हो पाता |
  • धीरे-धीरे उस भाग में दर्द रहना, सूजन रहना शुरू हो जाएगी |
  • किसी भाग में ब्लॉकेज आ जाती है तो वहां दर्द रहने लगता है |
  • धीरे-धीरे यह ब्लॉकेज बढ़ती जाती है |

मांसपेशियों में ब्लॉकेज या  ऐठन आने के तीन कारण है किसी एक विटामिन की कमी से या एक मिनरल्स की कमी से यह ब्लॉकेज नहीं आती | इसके पीछे दो से तीन कारण होते हैं | यानी यह नहीं है कि हमारे शरीर में एक विटामिन की कमी हो गई तब हमारे मांसपेशियों में ऐंठन रहने लग जाए |  मांसपेशियों में  ऐठन रहने का तीन ग्रुप हैं |


1.  विटामिन B12

  • विटामिन B12 एक ऐसा विटामिन है जो हमारे नसों के ऊपर 1 माईलिंग की तरह काम करता है |
  • जब यह हमारी मायलिन हमारे शरीर में अगर विटामिन B12 की कमी हो जाए तब यह एमाइलिन भी कमजोर पड़ जाता है |
  • जिसके कारण नस दबने लगती है जिस भाग में नस दब जाएगी वहां ब्लड का प्रवाह सही से नहीं होगा |
  • जिसके कारण मांसपेशियों में दर्द, सूजन, ऐठन रहना शुरू हो जाएगी तो सबसे पहले हमने अपने शरीर में विटामिन B12 की कमी को पूरा करना होगा |

2.  कैल्शियम

  • कैल्शियम सिर्फ यह नहीं वह सिर्फ हमारे हड्डियों को मजबूत करता है हमारे दांतो को मजबूत करता है |
  • कैल्शियम हमारी हड्डियों को मजबूती देता है |
  • हमारी मांसपेशियों को मजबूती देता है |
  • हमारी मांसपेशियों को ताकत देता है |
  • जैसे की नसों को ताकत देने का काम विटामिन B12 करता है वैसे ही मांसपेशियों को ताकत देने का काम कैल्शियम करता है |
  • आपने अपने शरीर में कैल्शियम की कमी भी पूरी करनी है |

3.  पोटेशियम –

  • अगर हमारे शरीर में पोटेशियम कम हो जाए और सोडियम की मात्रा बढ़ जाए हम बहुत थकावट महसूस करेंगे |
  • हमारी टांगों में  ऐठन आ रही है हमारे कंधों में ऐठन आ रही है |
  • हम सोते हैं तब गर्दन की नस चढ़ जाती है तो यह हमारे शरीर में पोटेशियम की कमी है और  सोडियम का शरीर में  बढ़ना है | 

मांसपेशियों में ऐठन का इलाज – Treatment of muscle spasms

विटामिन B12 की कमी को पूरा :-

  • विटामिन B12 फेट्सोलेवल नहीं है यह वाटर शो लेबल है |
  • यानी कि यह हमारे शरीर में सिर्फ पानी में ही  गुला होता है और रोज का रोज जितना हमारे शरीर को विटामिन B12 की जरूरत होती है |
  • हमारा शरीर खाने के द्वारा विटामिन B12 ले लेता है |
  • हमारे शरीर में विटामिन B12 इकट्ठा होकर नहीं रहता |
  • उसे रोजाना ही लेना पड़ता है |
  • विटामिन B12 की कमी को पूरा करने का सबसे अच्छा सोर्स है अंकुरित |
  • अब गर्मियां चल रही हैं तो हमें अंकुरित का सेवन जरूर करना चाहिए |
  • मूंगी के  अंकुरित बहुत अच्छे हैं आप उनका सेवन कीजिए |
  • आप दूध व दूध से बनी चीजों का सेवन कीजिए |
  • सोयाबीन का सेवन कीजिए |
  • यह तीन ऐसी चीजें हैं जिनमें बहुत अच्छी मात्रा में विटामिन B12 होता है |

कैल्शियम की कमी को पूरा :-

  • कैल्शियम को पूरा करने का अच्छा साधन है दूध व दूध से बनी जितनी भी चीजें हैं उनका सेवन कीजिए जैसे – दही, पनीर आदि का सेवन कीजिए |

रागी –

  • रागी सरसों के दाने के समान होती है |
  • यह बाजार से बहुत आसानी से मिल जाती है |
  • रागी के अंदर अन्य चीजों से दो से तीन गुना कैल्शियम होता है |
  • आपने रागी को हल्का सा  भून लेना है 5 से 6 मिनट के लिए |
  • उसके बाद इसे ठंडा होने के बाद पाउडर के रूप में तैयार कर लेना है |
  • रात को सोते समय एक गिलास गुनगुने पानी के अंदर एक चम्मच रागी का पाउडर मिक्स करके पी लेना है |
  • आप इसका सेवन बड़े आराम से गर्मियों में भी कर सकते हैं |

तिल –

  • आप एक चम्मच तिल रात को सोते समय भिगो दीजिये सुबह इसका सेवन कर लीजिए |
  • उसका पानी भी साथ में पी लीजिए |
  • तिल चाहे काले हो या सफेद इनकी गुणवत्ता दोनों समान होती है | 

पोटेशियम की कमी को पूरा :-

  • आपने सोडियम वाली चीजों का सेवन बहुत कम करना है |
  • आप जिस नमक का इस्तेमाल कर रहे हैं उसकी जगह आप सेंधा नमक का इस्तेमाल करें |
  • पोटेशियम की कमी को पूरा करने के लिए तरबूज खाइए केले खाइए शकरकंद खाइए |
  • चुकंदर, पालक, नारियल पानी पीजिए इनमें बहुत अच्छी मात्रा में पोटेशियम होता है |
  • आपने एक बात का ध्यान रखना है सोडियम को कम करना बहुत जरूरी है जब तक सोडियम कम नहीं होगा हमारे शरीर में फैट नहीं जाएगी |
  • हम जितना भी पानी पी रहे हैं वह यूरिन के द्वारा बाहर नहीं होगा वह हमारे शरीर में ही इकट्ठा होकर रह जाएगा | 

बंद नसों को खोलने का उपाय :-

  • आप ऑन लॉन्ग बिलॉन्ग  व्यायाम कीजिए इसे प्राणायाम भी कहा जाता है |
  • इसे आप 15 मिनट सुबह, 15 मिनट शाम को कीजिए |
  • अगर आप यह करते हैं तो नसों में आने वाले जितने भी रोग हैं वह दूर हो जाएंगे |
  • मांसपेशियों की ऐंठन भी दूर हो जाएगी |
  • आपने पैदल जरूर चलना है 30 मिनट सुबह, 30 मिनट शाम को इससे खून का प्रवाह भी सही से रहता है |
  • मांसपेशियों में जो ऐठन आ चुकी है वह भी ठीक हो जाती है |
  • रात को सोते समय आपने अपने पैरों के नीचे तकिया लेकर जरूर सोना है |
  • अगर आपका वजन ज्यादा है तो उसे कम कीजिए |
  • जब तक आप अपने वजन को कम नहीं करेंगे तब तक मांसपेशियों में ऐंठन बनी रहेगी |
  • क्योंकि मांसपेशियों में ऐंठन दबाव के कारण आती है इसलिए वजन को कम करना बहुत जरूरी है |

ये थी जानकारी मांसपेशियों में ऐठन का इलाज(Treatment of muscle spasms) के बारे में |

अगर आप को ये Post अच्छी लगी तो Comment कर के जरूर बताएं और अपने Friends के साथ जरूर शेयर कीजिएगा अगर अभी तक आप ने मेरी Website www.myfitnessbeauty.com को Subscribe नहीं किया है तो Subscribe कर लीजिए तांकि मेरे आने वाले Post के Notification और उसके Updates आप को मिलते रहें |

मिलते है Next Post में तब तक के लिए Good Bye |

दिव्या शर्मा