High Sodium in blood salt rock salt in Hindi

High Sodium in blood salt rock salt
High Sodium in blood salt rock salt

High Sodium in blood salt rock salt : सफेद नमक की जगह खाए ये तीन नमक – बात करते है ऐसे नमक की जो सामान्य नमक के जितना ही स्वाद है लेकिन उसके कोई भी नुकसान नहीं है | अक्सर लोगो को आपने यह कहते सुना होगा की नमक कम खाना चाहिए ये सेहत के लिए हानिकारक होता है | लेकिन ये बात किस हद तक सही है | नमक हमारे शरीर के लिए एक ऐसा कम्पाउंड है जिसके बिना हमारे शरीर में लिवर, दिल, थायराइड से अंग कम करना बंद कर देते है | सीधे तौर पर हमें तो इस नमक के बिना जीवित रहना मुश्किल है |

इस पोस्ट को शुरू करने से पहले आपको एक बात बताना जरूरी है कि यह पोस्ट नीचे दी गईं वीडियो का लिखित रूप है | जो जानकारी इस वीडियो में दी गईं है वही जानकारी इस पोस्ट में भी दी गईं है |

इस Post की वीडियो को देखने के लिए नीचे Play बटन पर Click करें


शरीर में सफेद नमक की मात्रा ज्यादा होने के नुकसान –

अगर हमारे शरीर में इसकी मात्रा जयादा हो जाए तो साधारण सा दिखने वाला सफेद नमक हमारी जिन्दगी को खोखला कर सकता है |

  • हड्डियों का कमजोर होना |
  • बालो का झड़ना |
  • त्वचा के रोग |
  • एसिडिटी, High BP, किडनी से सबंधित समस्याएं |
  • यूरिक एसिड की समस्या |
  • हार्ट अटैक |
  • कई गंभीर रोग नमक की मात्रा जयादा होने पर होते है |

आजकल वैसे भी नमक जयादा खा रहे है | नमक और जयादा चीनी ये दोनों एक जितने ही हानिकारक है | तो सवाल ये उठता है आखिर हम क्या करे | अगर हमें सफेद नमक कि जगह ऐसी कोई चीज मिल जाए जो इस नमक के जितना ही स्वाद हो और इसके कोई नुकसान भी ना हो, तो आज हम ऐसे ही नमक की बात करते है, जिसके कोई नुकसान नहीं है बल्कि हमारी शरीर में छोटी या मोटी कोई समस्या आती है उनको भी ठीक करता है | साथ में जानेगे कुछ ऐसे लक्षणो के बारे में जिनसे हमें पता चल सकता है, हमारे अंदर नमक की मात्रा जयादा है या सामान्य है | सबसे पहले हम जानते है, रोज का हमें कितनी मात्रा में नमक खाना चाहिए और जब हम नमक खाते है तो हमारे शरीर पर क्या-क्या प्रभाव डालता है |

नमक सोडियम का मुख्य सोरस है | सोडियम एक ऐसा तत्व है जिसके बिना हम जीवित नहीं रह सकते | शरीर में ज्यादातर सोडियम हमारे खुन और शरीर सेल्स में पाया जाता है | शरीर में तरल पदार्थ का बैलेन्स बना कर रखने के साथ-साथ हमारे नर्व सिस्टम और मसल के लिए सोडियम हमारे लिए बहुत जरुरी है |

High Sodium in blood salt rock salt : सोडियम की कमी के नुकसान –

शरीर में अगर सोडियम की कमी हो जाए तो इससे हाइपोनेट्रीमिया एक गंभीर बीमारी हो जाती है इसके चलते सिर में दर्द, शरीर में दर्द, बार-बार थकान होना, चक्कर आना, शरीर में कमजोरी, दिमाग का संतुलन बिगड़ना आदि समस्या नमक कमी के कारण हो जाती है |

सोडियम अगर हमारे शरीर के लिये इतना जरुरी है तो ऐसे हानिकारक क्यों कहा जाता है तो इसके तीन मुख्य कारण है –

1. हमारा खान-पान |

2. केमिकल और रीफाइड के द्वारा |

3. हमारे आहार में उन चीजों की कमी अगर हमने सोडियम जयादा ले लिया तो बाहर नहीं हो पा रहा हम ऐसे आहार नहीं ले रहे जिसके द्वारा ज्यादा सोडियम हमारे शरीर से बहार हो सके |

High Sodium in blood salt rock salt : रोज कितना नमक खाना चाहिए –

  • हमें रोज 2 से 3 ग्राम नमक खाने कि सलाह दि जाती है |
  • WHO यानि कि World health ऑरगनाइजेसन के द्वारा एक व्यक्ति को 24 घंटे में 5 ग्राम से ज्यादा सोल्ट नहीं खाना चाहिए |
  • लेकिन इस रिसर्च से ये पता चला है की एक व्यक्ति रोजाना 10 से 15 ग्राम नमक खा जाता है और सभी लोगो को इस बात का पता नहीं है |
  • दिल से जुड़े रोगो का खतरा ज्यादा बढ़ गया है जो शरीर में ज्यादा नमक खाने से हुआ है |
  • क्या आपको इस बात कि जानकारी है कि इस वक्त आपका ब्लड प्रेशर हुआ है या सामान्य है |
  • दूसरा क्या आपको इस बात का पता है आप रोजाना का 5 ग्राम नमक खा रहे है या इससे कम या ज्यादा खा रहे है |

इन सब प्रशनो का जबाब आपको नहीं पता तो इस पोस्ट में आपको मिल जाएंगे |

ज्यादा नमक खाने के नुकसान :-

  • आयुर्वेद के द्वारा अगर हम ज्यादा नमक खाते है तो धीरे-धीरे हमारे शरीर में पित की मात्रा बढ़ने लगती है | जिससे हाइपर एसिडिटी होने की सम्भावना बढ़ जाती है | बढ़े हुए पित की वजह से समय से पहले बाल सफेद होने लगते है, आँखों की कमजोरी आने लगती है |
  • ज्यादा नमक खाने से खुन एसिडिक बन जाता है जिससे स्योराइसिस, एग्जिमा या फिर खुजली जैसे कई तरह के रोग हो जाते है |
  • बढ़ा हुआ सोडियम हमारे हड्डियों से कैल्शियम को धीरे-धीरे घटने लगता है जिससे हमारी हड्डिया कमजोर पड़ने लगती है |
  • ज्यादा नमक खाने वालो को पसीना ज्यादा आता है ।
  • पानी शरीर से जल्दी-जल्दी बाहर निकलने लगता है जिससे यूरिन भी जल्दी-जल्दी आने लगता है और प्यास भी ज्यादा लगती है |
  • शरीर की अन्दरूनी गर्मी बढ़ जाती है और पेट में जलन फिर होने लगती है |

नमक का बुरा असर हमारी किडनियों पर भी पड़ता है | साथ ही लिवर के लिए भी ज्यादा नमक हानिकारक है | लेकिन ज्यादा नमक खाने का सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव हाई ब्लड प्रेशर, दिल के रोग होने लगते है |

बढ़े हुए ब्लड प्रेशर का पता नहीं लगने का नुकशान –

कुछ लोगों को अपने बढ़े हुए ब्लड प्रेशर का पता ही नहीं चलता और उन्हें अचानक हार्ट अटैक का शिकार होना पड़ता है जब हम मीठा ज्यादा खा रहे होते है तो हमें पता होता है कि हमें डायबिटीज या पेट से संबंधित रोग हो सकते है । लेकिन नमक के मामले में हम बिल्कुल अनजान बन जाते है |

पोटेशियम आहार लेने के फायदे –

अगर हम हरी सब्जियां ज्यादा ले रहें है और पोटैशियम वाले आहार ज्यादा ले तो जितना भी ज्यादा नमक हम खा रहें वो बाहर निकल जायेगा हम ये कह सकते है पोटैशियम एक ऐसी चीज है जो हमारे शरीर में बढ़े हुए सोडियम को बैलेंस कर सकती है । बहुत लीग ऐसे भी है जो जूस के अंदर नमक डालकर पीते है | जिससे जूस के पोषिक तत्व तो ख़त्म हो ही जाते है | इसके आलावा ऊपर से डाला हुआ नमक हमारी किडनियों के लिए नुकसान दायक होता है |

High Sodium in blood salt rock salt : क्या करें –

  • नमक का कम मात्रा में सेवन करें |
  • किसी चीज में ऊपर से नमक डालकर बिल्कुल नहीं खाना |
  • ज्यादा नमक के प्रभाव से बचने के लिए पोटैशियम आहार खाइये |

कौनसी चीजों में पोटैशियम ज्यादा होता है –

  • केला, संतरा, खरबूजा आदि |
  • सब्जियों में – आलू, ब्रोकली, खीरा आदि शरीर में सोडियम का बैलेंस बनाकर रखने का मुख्य सोरस पोटैशियम ही है |
  • पोटैशियम के और बहुत भी सोरस है जैसे – ब्रोकली, अंजीर, कीवी, खीरा, वाटरमेलन, मटर, पालक, तरबूज, खरबूजा, आलू, दही, अलसी, कद्दू, बादाम, बेंगन, अनार, सोंफ, मशरूम, मूंगफली आदि ।

सफेद नमक बनने के दौरान कितने कैमिकल, रिफाइड चीजों का इस्तेमाल किया जाता है जिसके कारण इसके सारे पोषिक तत्व बिल्कुल खत्म हो जाते है जिसमे सबसे पहला है –

  • आयोडीन सफेद नमक खाने से हमारा मेटाबॉलिज्म धीरे हो जाता है |
  • थायराइड कि समस्या हो जाती है |
  • ऐसे में जरूरी है सफेद नमक को छोड़कर दूसरे नमक का इस्तेमाक किया जाये |
  • सफेद नमक की जगह तीन अलग-अलग नमक का इस्तेमाल करना चाहिए |

1 .सेंधा नमक |

2 .काला नमक |

3 . हिमालय पिंक सॉल्ट |

1 .सेंधा नमक –

आयुर्वेद के अनुसार सेंधा नमक खाने में इस्तेमाल करने के लिए सबसे फायदेमंद है | इसमें आयोडीन के साथ-साथ पोटैशियम, आयरन, मैगनीशियम, जिंक जैसे 80 ऐसे एनिमेल्स होते है, ये गले व पेट से संबंधित रोग नहीं होने देते और उन्हें ठीक भी करते है |

जिन लोगों को शरीर में कमजोरी या मसल में अकड़ रहती है, ऐंठन रहती है, उन लोगों को सेंधा नमक का इस्तेमाल जरूर करना चाहिए | ये हमारे पाचन तंत्र को बेहतर बनता है । हमारी इम्युनिटी पावर को बढ़ाता है |

2 .काला नमक –

काला नमक भी हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है | लेकिन इसमें सल्फर कि मात्रा ज्यादा होती है | जिसके कारण इसका स्वाद साधरण नमक की तुलना में थोड़ा अलग होता है | सल्फर हमारे पाचन तंत्र व किडनी के लिए काफी उपयोगी माना जाता है | इसीलिए काले नमक को किडनी व पेट की सफाई करने वाला कहा जाता है |

यह हमारे शरीर में डिटॉक्स एजेंट की तरह काम करता है | जिससे पाचन से जुड़े रोग जैसे – गैस, कब्ज, इन समस्याओं से बच सकते है, जिन लोगों को स्किन के रोग होते है या खुन की कमी होती है | उन्हें भोजन में काले नमक का उपयोग करना चाहिए |

3 . हिमालय पिंक सॉल्ट –

ये नमक हिमालय की पहाड़ियों में मिलता है | हिमालय पिंक सॉल्ट में सोडियम की मात्रा आम नमक के मुकाबले कम होती है | ये भी एक प्रकार का सेंधा नमक ही है | जो कि हिमालय पर्वत पर पाया जाता है | ज्यादातर लोग साधारण नमक की जगह इसी नमक का इस्तेमाल करने लगे है |


इस नमक में 80 से ज्यादा मिनरल्स पाए जाते है जो कि खाने का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद है | ये शरीर में PH लेवल को भी बैलेंस करते है | पानी के लेवल को भी बैलेंस करते है | साथ ही हमारे दिमाक को शक्ति प्रदान करते है |

ये थी जानकारी High Sodium in blood salt rock salt नमक के बारे में |

अगर आप को ये Post अच्छी लगी तो Comment कर के जरूर बताएं और अपने Friends के साथ जरूर शेयर कीजिएगा अगर अभी तक आप ने मेरी Website www.myfitnessbeauty.com को Subscribe नहीं किया है तो Subscribe कर लीजिए तांकि मेरे आने वाले Post के Notification और उसके Updates आप को मिलते रहें |

मिलते है Next Post में तब तक के लिए Good Bye |

दिव्या शर्मा

Our Other Posts
How to Increase Hemoglobin Treat Anemia Iron Deficiency
Improve Your Immunity Power
Cancer treatment
Sciatica Pain, Joint pain, Heel pain treatment
heel pain treatment