Home remedies for joint and knee pain in Hindi

Home remedies for joint and knee pain
Home remedies for joint and knee pain

आज हम आपको बताने जा रहे है जोड़ों व् घुटनों के दर्द का घरेलू इलाज(Home remedies for joint and knee pain) के बारे में | एसिडिटी दो प्रकार की होती है एक तो हमारे खून में घुली हुई होती है | दूसरी एसिडिटी हमारे सीने पेट में होती है | जो पेट की एसिडिटी है वह अफारा देती है | धीरे-धीरे उस से लीवर खराब हो जाता है | लेकिन जो खून की एसिडिटी होती है वह हमारे लिए काफी नुकसानदायक होती है | वह हमारे लिए हार्टअटैक को पैदा कर देती है | आज हम इस पोस्ट में एक काढ़े के बारे में बात करेंगे | वह खून की एसिडिटी को दूर करता है | पेट की एसिडिटी को दूर करता है | उसके और भी बहुत सारे फायदे हैं |

इस पोस्ट को शुरू करने से पहले आपको एक बात बताना जरूरी है कि यह पोस्ट नीचे दी गईं वीडियो का लिखित रूप है | जो जानकारी इस वीडियो में दी गईं है वही जानकारी इस पोस्ट में भी दी गईं है |

इस Post की वीडियो को देखने के लिए नीचे Play बटन पर Click करें

काढ़े के फायदे :-

  • शरीर में वात के कारण अगर आपके घुटनों में जोड़ों में दर्द हो रहा है |
  • कंधों में दर्द हो रहा है उनके लिए भी है काढ़ा बहुत फायदेमंद है |
  • जिन लोगों को कफ की समस्या है यानी कि खांसी ज्यादा आती है |
  • बहुत जल्दी जुकाम हो जाता है |
  • एलर्जी बहुत ज्यादा रहती है |
  • आपका गला बहुत जल्दी खराब हो जाता है |
  • वात पित्त कफ जोड़ों में दर्द खांसी इन सभी को दूर करता है |
  • जिन लोगों को डायबिटीज की समस्या है उन लोगों के लिए इस काढ़ा का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद है |
  • जिनका खून साफ नहीं है खून में से कचरा बाहर निकालने के लिए इस काढ़े का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद है |
  • बैड कोलेस्ट्रॉल को बॉडी से बाहर करने के लिए इस काढ़े का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद है |
  • जिन लोगों को हाई बीपी की समस्या है उन लोगों के लिए भी इस काढ़े इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद है |
  • जोड़ों के दर्द से बचे रहने के लिए हार्ट अटैक जैसी समस्या से बचे रहने के लिए शरीर में ब्लॉकेज से बचे रहने के लिए इस काढ़े का इस्तेमाल करना बहुत फायदेमंद है |
  • अब हम जानते हैं इस काढ़े को कैसे बनाना है | इस काढ़े को बनाने के लिए हमें तीन चीजों का इस्तेमाल करना है |

1. अर्जुन की छाल –

Home remedies for joint and knee pain - Image - 1
Home remedies for joint and knee pain – Image – 1
  • अर्जुन की छाल को क्षारीय प्रवृत्ति का माना जाता है |
  • यह अम्लीय प्रवृत्ति की नहीं है |
  • यानी कि यह एसिडिक नहीं है |
  • जिन लोगों को हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है उन लोगों ने सभी क्षारीय प्रवृत्ति चीजों का सेवन करना है |
  • जिन लोगों के घुटनों में दर्द रहता है जोड़ों में दर्द रहता है उन लोगों ने क्षारीय प्रवृत्ति चीजों का सेवन ज्यादा करना है |
  • आपने एक चम्मच अर्जुन की छाल का लेना है |

2. गुड़ –

Home remedies for joint and knee pain - Image - 2
Home remedies for joint and knee pain – Image – 2
  • अगर आप खाना खाने के बाद गुड़ का सेवन करते हैं |
  • तो जिन लोगों को खाना हजम नहीं होता है सारा का सारा खाना बहुत जल्द हजम हो जाता है |
  • अगर आप एक चम्मच चीनी का सेवन करते हैं तो खाना कभी भी नहीं पचेगा |
  • आपने कभी भी अपने खुराक से ज्यादा खाना खा लिया तो आप एक चम्मच गुड़ का सेवन करके देखिए सारा खाना 3 से 3:30 घंटे के अंदर अंदर पंच जाएगा |

3. पानी –

Home remedies for joint and knee pain - Image - 3
Home remedies for joint and knee pain – Image – 3
  • आपने 200ml पानी लेना है |
  • एक चम्मच अर्जुन के छाल लेनी है |
  • इसे आप ने पानी के अंदर उबाल लेनी है |
  • जब पानी 150 ml  रह जाए तब इसके अंदर एक चम्मच गुड़ मिक्स कर देना है |
  • फिर इस काढ़े को आप सुबह खाली पेट पी लीजिए | 

  • जो लोग सुबह चाय पीते हैं उन लोगों ने इस काढ़े  के अंदर दूध को मिक्स करके पीना है |
  • यानी कि आपने यह काढ़ा  तो तैयार कर लिया
  • पानी के अंदर अर्जुन की छाल को डाला अच्छे से उबाल लिया उसके अंदर गुड डाल दिया |
  • उसके बाद आपने इसके अंदर आधा कप दूध मिक्स कर देना है |
  • उसके बाद इसको चाय की तरह सेवन कीजिए |

ये थी जानकारी जोड़ों व् घुटनों के दर्द का घरेलू इलाज(Home remedies for joint and knee pain) के बारे में |

अगर आप को ये Post अच्छी लगी तो Comment कर के जरूर बताएं और अपने Friends के साथ जरूर शेयर कीजिएगा अगर अभी तक आप ने मेरी Website www.myfitnessbeauty.com को Subscribe नहीं किया है तो Subscribe कर लीजिए तांकि मेरे आने वाले Post के Notification और उसके Updates आप को मिलते रहें |

मिलते है Next Post में तब तक के लिए Good Bye |

दिव्या शर्मा